relationship is tha part of life

रिलेशनशिप

रिलेशनशिप क्या है ?

Contents hide
1 रिलेशनशिप क्या है ?
1.1 रिलेशनशिप की वास्तविकता
1.1.2 1.Good Relationship :-
1.1.3 2. Long Distance Relationship :-
1.1.6 5. Husband and Wife Relationship :-
1.1.10 9. Open Relationship :-

रिलेशनशिप जो हमारी प्यारी आंखों से शुरू होता है ,

और हमारे दिल में समाता है | जब हम किसी व्यक्ति के  

साथ (लड़की/लड़का) रिलेशनशिप में होते हैं ,तो हमें सामने

वाले की अच्छाइयों के अलावा कुछ दिखाई नहीं देता है

क्योंकि वह हमारे दिल में समाया हुआ है |

रिलेशनशिप में हमें एक दूसरे से बातें करना,

एक दूसरे के साथ समय बिताना बहुत ही अच्छा लगता है |

लव एक्चुअल में जब हमें किसी से होता है , तो हमें उसकी बातें सुनना ,

उसे देखना सबसे ज्यादा पसंद होता है |यही एक रिलेशनशिप की ओर हमें

आकर्षित करता है | और उसके साथ टाइम स्पेंड करना भी एक्चुअल में लव होता है

प्यार में जब एक दूसरे से फिलिंग शेयर करना , अपनी सारी प्रॉब्लम उसे बताना,

उसकी केयर करना ही लव कहलाता है यदि आपको भी अपने पार्टनर के

साथ कुछ ऐसा फील होता है तो हम इसे एक अच्छा रिलेशनशिप कहते हैं |

रिलेशनशिप की वास्तविकता

लव एक्चुअल दो दिलों का (आत्माओं का) मिलन होता है जो कि अंत समय

तक चलता है | प्यार वह नहीं है जिसमें हम एक दूसरे के साथ बोरियतसा महसूस करें

प्यार में तो हमें बह चाहे कुछ भी सुनाएं या बताएं सारा कुछ अच्छा लगता है ,

क्योंकि वह व्यक्ति हमारे हार्ट (दिल) में उतरा हुआ है |

और उसकी सभी एक्टिविटीज हमारे दिल में उतरी हुई हैं |

रिलेशनशिप वह नहीं है जिसमें हम किसी एक के साथ दो महीने और

किसी के साथ 4 महीने रहे और ब्रेकअप कर लिया , हम इसे रिलेशनशिप या

प्यार का नाम नहीं दे सकते हैं इसे तो हम केवल टाइम पास कह सकते हैं |

प्यार तो वह है जिसमें हमें उसके जाने का भी डर

ना हो क्योंकि वह व्यक्ति कभी हमको नहीं छोड़ कर जा सकता जो

हमसे बहुत प्यार करता है | मेरा तो यह मानना भी है

कि एक दूसरे से छोटी-छोटी लड़ाईया एक दूसरे से गुस्सा हो जाना और

किसी तीसरे व्यक्ति से बात करते देखकर जलेश (ईर्ष्या)

महसूस करना एक स्ट्रांग (Strong) प्यार की पहचान है

किसी ने कहा भी है कि जब हमारी नजरें किसी एक जगह ठहर जाती है

तो वह किसी दूसरी जगह उठती भी नहीं है|

क्योंकि जब हमें किसी से प्यार होता है तो हमें केवल वही अच्छा लगता है |

कोई दूसरा व्यक्ति पसंद ही नहीं आता है |

किसी शायर ने भी कहा है कि

उठती नहीं अब आंखें किसी और की तरफ

एक शख्स का दीदार इतना पाबंद कर गया मुझे ||

तो प्यार में हमें उसकी सभी एक्टिविटी ,सारी बातें प्यारी ही लगती हैं और प्यार की मंजिल प्यार को लेना ही नहीं होता है प्यार तो हमें जिसे हो जाए फिर वह आपको मिले या ना मिले वह आपका ही होता है , क्योंकि वह भी आपको उतना ही प्यार करता है जितना कि आप

प्यार को पा लेना तो सोने पर सुहागा जैसा है आपको मिल जाए तो चार चांद लगने जैसा है और वह व्यक्ति आपको मिल ही जाता है जिससे आप इतना प्यार करते हैं |

हम आपको नीचे कुछ 10 प्रकार के रिलेशनशिप के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो कुछ इस प्रकार हैं :_

1. Good Relationship

2. Long Distance Relationship

3. Couple Goals Relationship

4. Toxic Relationship

5. Husband and Wife Relationship

6. Interracial Relationship

7. Complete Relationship

8. Sexual Relationship

9. Open Relationship

10. Platonic Relationship

1.Good Relationship :-

एक अच्छा रिलेशनशिप वह होता है | इसमें किसी प्रकार का अहंकार (Ego) अति गुस्सा आदि नहीं होता है | जिसमें आपको सभी लोग समझते हैं
आपको अप्रिशिएट करते हैं | हम उसे एक अच्छे रिलेशनशिप का नाम देते हैं एक अच्छे रिलेशनशिप में हमारे संबंध एक-दूसरे से बहुत ही मजबूत होते हैं | हम एक दूसरे को समझते हैं क्योंकि अच्छे रिलेशनशिप की पहचान ही अंडरस्टैंडिंग से होती है | क्योंकि आप यदि अपने सामने वाले की सिचुएशंस(setuations) को नहीं समझते हैं तो वह आपको आपके साथ नहीं रहेगा और यही मेन (Main) कारण ब्रेकअप का बन जाता है
लेकिन एक अच्छे रिलेशनशिप में यह सभी बिल्कुल नहीं होता है अच्छे रिलेशनशिप में अंडरस्टैंडिंग बहुत ज्यादा होती है और वह लाइफ टाइम तक चलता है |

2. Long Distance Relationship :-

किसी भी रिश्ते को निभाना आसान नहीं होता है | चाहे फिर वह करीबी हो या दूरी का ऐसा माना जाता है रिश्तो की डोर काफी नाजुक होती है और अगर एक बार टूट जाए तो वह द्वारा जोड़ना बहुत ही कठिन हो जाता है |
r2 Complete Relationship
Long destance relationship is the very usefull to good love their people work away from his partner….
इसलिए आपको जरूरी है कि आप अपने रिश्तो को अच्छी तरह से निभाएं और संभाले यह बात लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप (Long Distance relationship) में तो और भी ज्यादा जरूरी होता है | कई बार देखा जाता है कि लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में परेशानियां ज्यादा आती है पार्टनर्स(Partners) के बीच कोई तालमेल ढंग से नहीं हो पाता है सालों-साल मुलाकात भी नहीं होती है |
इस कारण से रिश्ते में खटास और दूरियां आने लगती है इसलिए आप अपनी लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में अपने पार्टनर से संपर्क करते रहें और आपसी बातचीत करते रहे एक दूसरे की सुने और कोई भी बात एक दूसरे से ना छुपाए तो आपका रिलेशनशिप बहुत ही अच्छा चलेगा |

3. Couple Goals Relationship :-

रिश्ते को स्ट्रांग बनाने और प्यार का एहसास और नयापन लाने के लिए आप भी अपने पार्टनर के साथ कुछ कपल गोल्स जरूर बनाएं |

गोल्स का मतलब लक्ष्य और कपल-गोल्स का मतलब होता है अपने रिलेशन की मजबूती के लिए तैयार किए गए कुछ लक्ष्य जिनके बेस पर आप अपने रिलेशनशिप को डिजाइन करते हैं

आज के समय में कपल-गोल्स का मतलब है एक दूसरे को अच्छे से जानना और एक दूसरे से कम्युनिकेशन करना| इसमें जिंदगी के हर मोड़ पर साथ चलने की बात भी शामिल है इसमें कपल-गोल्स को यूज करने वाले कपल यह चाहते हैं कि चाहे कुछ भी हो जाए एक दूसरे के बीच का कम्युनिकेशन नहीं टूटना चाहिए कपल-गोल्स कपल-गोल्स में आज के समय के कपल अपने रिश्ते और खुद को प्राथमिकता देते हैं |

4. Toxic Relationship :-

टॉक्सिक रिलेशनशिप को यदि सीधे शब्दों में बताया जाए तो वह होता है जिसमें अंडरस्टैंडिंग बहुत कम होती है और ईगो (Ego) ज्यादा होता है अर्थात इस प्रकार की रिलेशनशिप में आपका पार्टनर कभी तो आपको बहुत ही ज्यादा प्यार जताएगा और अचानक से ब्रेकअप कर लेना फिर आपको मनाएगा मतलब अजीब सी एक्टिविटीज करता है | इस रिलेशनशिप में पार्टनर्स एक दूसरे की बातें कम मानते हैं एक दूसरे से बातें छुपाते हैं और आप से दूरियां बनाते हैं यह सिचुएशन लड़का/लड़की दोनों की सिचुएशंस में हो सकता है क्योंकि ईगो (Ego) बहुत है जैसे कि यदि उसका फोन आएगा तभी मैं बात करूंगा/करूंगी वरना नहीं करूंगा/करूंगी तो यह सब टॉक्सिक रिलेशनशिप को रीप्रजेंट (Re-present) करता है |

5. Husband and Wife Relationship :-

शादी का रिलेशन एक ऐसा रिलेशन है जिसमें पति और पत्नी दोनों का एक दूसरे का साथ देना बहुत जरूरी होता है |
दोनों को आपस में एक दूसरे को हैप्पी रखना बहुत जरूरी होता है, एक दूसरे को एक साथ टाइम स्पेंड करना चाहिए एक दूसरे से बातें शेयर करनी चाहिए जिससे दोनों के बीच रिलेशन मजबूत हो |
शादीशुदा रिश्ते में तल्खी का एक कारण दो लोगों का बात-बात पर झगड़ना भी है जहां पति-पत्नी के बीच उस समय बिगड़ जाती है जब दोनों एक दूसरे को बात-बात पर ताने मारने लगते हैं तो उस स्थिति में रिलेशनशिप टूटने की स्टेज पर आ खड़ा होता है | इसलिए हमें ऐसा नहीं करना चाहिए हमें एक दूसरे की बातों को समझना चाहिए ताकि ऐसी स्थिति में आए जो हमें और हमारे परिवार को उठानी पड़े और उसका प्रभाव हमारी पूरी जिंदगी पर पड़े |

6. Interracial Relationship :-

इंटेरिकल रिलेशनशिप(Interracial relationship)अर्थात अंतरजातीय रिश्ता एक ऐसा रिश्ता जिसमें दो पार्टनर्स अलग-अलग कास्ट (जाति) से बिलॉन्ग (Blong) करते हैं और वह एक साथ रिलेशनशिप में होते हैं तो उसे इंटेरिकल रिलेशनशिप कहते हैं|

इस प्रकार की रिलेशनशिप को बड़ी ही ध्यान से चलाना चाहिए क्योंकि दोनों अलग-अलग कास्ट से बिलॉन्ग करते हैं अब लेकिन प्यार हमें किसी की जाति देख कर थोड़ी होता है हमें तो बस सामने वाला व्यक्ति दिखाई देता है लेकिन हमारे समाज में इस रिलेशनशिप को बहुत ही कम लोग एक्सेप्ट करते हैं लेकिन मेरा मानना यह है कि आप किसी की कास्ट देख कर उसको जज(Judge) ना करें ,उसके काम और हुनर और वह आपसे कितना प्यार करता है यह देख कर उसको एक्सेप्ट कर कर लेना चाहिए जब आप यह सामने वाले में देख लेते हैं कि मैं आपसे कितना प्यार करता है तो उस प्यार में सेटिस्फेक्शन बहुत ज्यादा हो जाता है और लाइफ टाइम तक चलता है |

7. Complete Relationship :-

एक कंप्लीट रिलेशनशिप उसे कहा जाता है जिसमें किसी प्रकार का झगड़ा नहीं होता है | जहां सभी आपकी सुनी जाती है और आपको वैल्यू (Value) दी जाती है | और आप उनको वैल्यू देते हैं कंप्लीटेड रिलेशनशिप में कभी किसी भी बात को लेकर ईगो (Ego) नहीं आता है आप गुस्सा तो करते हैं, लेकिन ईगो (Ego) नहीं कंप्लीट रिलेशनशिप में आपको वह सभी मिलता है जो एक अच्छे और कंप्लीट रिलेशनशिप होना चाहिए |

8. Sexual Relationship :-

सेक्सुअल रिलेशनशिप को हम फिजिकल रिलेशनशिप का नाम भी दे सकते हैं | सेक्सुअल रिलेशनशिप हम सभी लोगों के जीवन का एक बहुत बड़ा और महत्वपूर्ण हिस्सा होता है | रिलेशनशिप में जब कपल सेक्स करते हैं तो उनके लिए वह बहुत ही आनंदनीय सो(Show) होता है और यदि आप प्राइवेट रिलेशनशिप में हैं तो आपको

r3 Complete Relationship

फिजिकल होना तब सही रहेगा जब आपका लव सच्चे लव में बदल जाएगा वरना आपके बीच लव घट जाता है |सेक्सुअल रिलेशनशिप(फिजिकल रिलेशनशिप) हम अपनी पीढ़ी को आगे बढ़ाने के लिए भी करते हैं ताकि हमारी फैमिली बने |

9. Open Relationship :-

यह एक ऐसी टर्म(Term) है जो रिलेशनशिप के फिजिकल और रोमांटिक,
भावनात्मक और सेक्सुअल इंटरेक्शन के बारे में बताती है | इसमें कपल एक दूसरे से अपने सेक्स करने की इच्छा आपके सामने बेझिझक दर्शाते हैं | कुछ रिलेशनशिप में इसको लेकर कमिटमेंट (commitment) तो कुछ रिलेशनशिप में फिजिकल, रोमांटिक ,भावनात्मक या सेक्सुअल चीजों को प्राथमिकता देते हैं यदि मेन शब्दों में कहा जाए तो ओपन रिलेशनशिप का मतलब होता है दो पार्टनर्स का एक दूसरे को सब कुछ बताना इसके साथ-साथ सोसाइटी(society) में भी उनका यह रिलेशनशिप छिपा नहीं होता है | वह किसी को भी अपने रिलेशनशिप के बारे में बताने से डरते यह घबराते नहीं हैं |

10. Platonic Relationship :-

प्लेटोनिक लव। सरल शब्दों में इसे अफलातूनी प्यार भी कहा जाता है। आखिर है क्या यह प्लेटोनिक लव। मनोविज्ञान ने इस शब्द की खासी तात्विक विवेचना की है लेकिन अहसास के स्तर पर इसकी अनुभूति को व्यक्त करना नामुमकिन है।
एक गहरा लगाव, निस्वार्थ श्रद्धा, अटूट विश्वास और अपरिभाषित चाहत के आसपास का ही कुछ अनुभव है जिसे समझाने बैठें तो शब्दों का अंबार लग जाएगा मगर साफ-साफ फिर भी समझ नहीं आएगा कि आखिर यह है क्या। कैसे पनपता है? क्यों किसी एक के ही प्रति उपजता है। इसे रोमांस से कैसे अलग किया जाए? वासना से यह कैसे दूर रहता है? क्यों किसी भाभी को अपना कोई एक देवर लाड़ला होता है और क्यों किसी छात्र को अपनी कोई एक शिक्षक प्यारी लगती है।

आकर्षकता

महज आकर्षण की संज्ञा इसे नहीं दी जा सकती क्योंकि आकर्षण तो वक्त के साथ कम हो जाता है लेकिन प्लेटोनिक लव बरसो-बरस तक मधुर स्मृतियों में संचित रहता है। वक्त के साथ यह बढ़ता ही है घटता नहीं। कब, कहां, कौन, कैसे किसी मन को लुभाने लगता है। यह पता नहीं चलता। प्यार वह कतई नहीं है और वासना तो किसी कीमत पर नहीं। आकर्षण है मगर ऐसा नहीं कि टकटकी लगाए उसे ही देखते रहो प्रेमी-प्रेमिका की तरह। दूर-दूर रह कर भी एक प्रबल जुड़ाव होता है एक-दूजे के लिए। निरंतर शुभ और प्रगति की कामना मन में छलछलाती रहती है। झरझर करते झरने-सा निष्पाप और निष्कलंक। जहां एक-दूजे का लंबा साथ भी लंबा नहीं लगता है और दूरियां तड़पाती नहीं है। एक-दूसरे की याद सताती नहीं है और साथ रहो तो बोरियत कभी फटकती नहीं है।

>> क्या आपको भी कभी किसी से प्लेटोनिक प्यार हुआ है ??

एक अच्छा फ्रेंड क्या होता है | जानिए….

9 thoughts on “रिलेशनशिप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat