लोकसभा 2013 की परीक्षा हुई निरस्त

लोकसभा 2013 की परीक्षा हुई निरस्त

लोकसभा 2013 की परीक्षा हुई निरस्त

लोकसभा 2013 की परीक्षा हुई निरस्त : भर्ती परीक्षा तीन चरणों में होनी है, जो अब दोबारा आयोजित की जाएगी। एपीएस-2013 के लिए जितने अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे, सभी को दोबारा शामिल होने का मौका दिया जाएगा, भले ही वे ओवरएज हो चुके हों।

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने एपीएस भर्ती-2013 की परीक्षा निरस्त कर दी है। एपीएस-2010 की तरह इस भर्ती में भी अभ्यर्थियों को नियमावली का उल्लंघन करते हुए शॉर्ट हैंड में आठ फीसदी तक की गलती पर छूट दी गई थी। आरोप लग रहे थे कि इसकी आड़ में कुछ अभ्यर्थियों को अनुचित लाभ पहुंचाया जा रहा है। ऐसे में आयोग ने इस भर्ती के तहत अब तक हुई दो चरणों की परीक्षा निरस्त कर दी। 

भर्ती परीक्षा तीन चरणों में होनी है, जो अब दोबारा आयोजित की जाएगी। एपीएस-2013 के लिए जितने अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे, सभी को दोबारा शामिल होने का मौका दिया जाएगा, भले ही वे ओवरएज हो चुके हों। परीक्षा का कार्यक्रम जल्द ही जारी किया जाएगा। भर्ती प्रक्रिया अगले छह माह में पूरी कर ली जाएगी। पहले चरण में सामान्य अध्ययन एवं हिंदी की लिखित परीक्षा, दूसरे चरण में शॉर्ट हैंड एवं टाइप टेस्ट और तीसरे चरण में कंप्यूटर ज्ञान की परीक्षा होगी। इसके बाद अंतिम चयन परिणाम जारी किया जाएगा।

शॉर्ट हैंड में गलती पर छूट का कोई प्रावधान हो सकता था लेकिन अब नहीं


एपीएस भर्ती की नियमावली में वर्ष 2001 से पहले शॉर्ट हैंड में पांच फीसदी तक छूट देने का प्रावधान था। 2001 में शासन ने नई नियमावली बनाई, जिसमें गलती पर छूट का प्रावधान समाप्त कर दिया गया। इसके बावजूद आयोग ने मनमाने तरीके से नियमों को तोड़मरोड़ कर शॉर्ट हैंड की परीक्षा में अभ्यर्थियों को आठ फीसदी तक की गलती पर छूट प्रदान की।

एपीएस के 176 पदों पर होनी है भर्ती


एपीएस-2013 के तहत कुल 176 पदों पर भर्ती होनी है। इसके लिए विज्ञापन वर्ष 2013 में जारी किया गया था। भर्ती के लिए तकरीबन चार हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे। जीएस एवं हिंदी की लिखित परीक्षा वर्ष 2015 और हिंदी शॉर्ट हैंड एवं टाइप टेस्ट की परीक्षा 2016 में हुई थी। तीसरे चरण की कंप्यूटर ज्ञान परीक्षा के लिए 1044 अभ्यर्थियों को क्वालीफाई कराया गया था अन्य न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat