stress is a type of deicese

स्ट्रेस

स्ट्रेस क्या है ?

Contents hide
1 स्ट्रेस क्या है ?

स्ट्रेस यह भी एक  फीलिंग  है

जो एक ऐसे समय पर आती है जिस समय कुछ घटना घटित होने वाली होती है |

मांग और संशोधन के बीच असंतुलन का परिणाम तनाव है | काफी निष्कर्षों के बाद शारीरिक व मानसिक बीमारियों का एक परिचय कारण  स्ट्रेस पाया गया है |

स्ट्रेस परिस्थितियों के अनुसार होते हैं:-

1. Mild stress

माइल्ड स्ट्रेस बह स्ट्रेस होता है जो हम रोजाना की जिंदगी मैं लेते हैं जैसे शायरी का खो जाना , चाबी का खो जाना, लाइट का नहीं आना, समय पर खाना न मिलाना,  नेटवर्क न आना आदि |

2. Moderate stress

Servere stress  बह स्ट्रेस होता है  जो हमें तब फील होता है
जब हम किसी घटना में तब्दील हो जाते हैं जैसे कार चलाते समय कार का एक्सीडेंट हो जाना और तुरंत दिल की धड़कन का बढ़ जाना मांसपेशियों का रुक जाना Servere stress   में आता है |  

तनाव होने के कारण :-

  1. भविष्य की चिंता
  2. गलत आहार
  3. अपेक्षाएं
  4. बदलाव
  5. दिनचर्या का बिगड़ना

पूर्वजों ने कहा है :-

चिंता ऐसी डाकिनी काट कलेजा खाए,
                                     वेद बिचारा क्या करें कब तक दवा लगाएं |
चिंता से तनाव होता है जो हमारी मानसिक बीमारियां का कारण होता है | हमें चिंता है कि स्थान पर चिंतन करना चाहिए जो हमें  भविष्य में अच्छी मंजिल तक लेकर जाएगा |

स्ट्रेस नुकसानदायक है या फायदेमंद :-

यदि हम बात करें नुकसान और फायदे की बात करने से पहले मैं आपको बता दो हर एक बिंदु के उतने ही नकारात्मक बिंदु होते हैं जितने की सकारात्मक बिंदु होते हैं |

रोजमर्रा की जिंदगी में न जाने लोग कितने लोग स्ट्रेस शिकार होकर अपनी आत्महत्या कर रहे हैं

और कुछ लोग तो इस तनाव में अपने परिवार वालों से झगड़ा भी कर लेते हैं झगड़े से नाराज होकर तू ठीक है लेकिन कुछ लोग तो इतनी हद तक गिर जाते हैं यह भी अपने माता पिता की हत्या भी कर देते हैं  |

जब भी हमें खतरा महसूस होता है

तो हमारे शरीर में  एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल नामक हार्मोन उत्पन्न हो जाते हैं | यह हार्मोन हमें  खतरे से लड़ने के लिए शक्ति रहते हैं हृदय की धड़कन बढ़ जाती है मांसपेशियों बीच जाती है |

सफलता के पीछे स्ट्रेस  (तनाव) का परिचय :-

प्रत्येक सफलता के   पीछे  स्ट्रेस  का अच्छा   रोल  होता है

क्योंकि सकारात्मकता  तनाव ही होता है जो आपको सफलता की ओर लेकर जाता है

यदि आपको उस समय सकारात्मक तनाव में होता तो शायद वह काम नहीं कर पाएंगे जो आप करना चाहते हो |

तनाव ही आपकी इंद्रियों की शक्ति को बढ़ाता है |
इस परिवर्तन से पैदा होने वाली शक्ति जिस बात से बना हुआ उसे पूरा करने मैं काम आती है //

बॉडी लैंग्वेज क्या है..

स्ट्रेस (तनाव ) के प्रकार :-

i) शारीरिक तनाव ( स्ट्रेस )

शारीरिक तनाव(स्ट्रेस) शरीर के थक जाने के कारण होता है  जिसे हम थोड़ी अधिक नींद लेने का पूरा काम करने के बाद खत्म कर सकते हैं |

ii) मानसिक तनाव

मानसिक तनाव अधिक सोच-विचार करने के कारण होता है

और यह तनाव कभी-कभी गंभीर रूप धारण कर लेता है  जिसके कारण मनुष्य अपनी आत्महत्या तक कर लेते

हैं |

मेडिटेशन क्या होता है जाने पूरी जानकारी

iii) सकारात्मक स्ट्रेस( तनाव )

सकारात्मक तनाव आपको सफलता की ओर लेकर जाता है |

यह तनाव आपको तब आता है जब आप किसी को एक अच्छा आदमी बनता हुआ देखते हो जिसे देखकर आप अभी जैसा बनना चाहते हो जो एक सकारात्मक तनाव होता है |

वह भविष्य जिसमें आप आप अपनी मनपसंद किसी भी वस्तु को खरीद सकते हैं |

ix) नकारात्मक  स्ट्रेस ( तनाव )

यह तनाव सभी तनाव में खतरनाक होता है क्योंकि यह तनाव अचानक आता है जिसमें व्यक्ति बुरा से बुरा सोचने लगता है और बुरा सा बुरा करने लगता है जिसके परिणाम भी गलत होते हैं |

stress..

15 thoughts on “स्ट्रेस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat