Dagdusheth Halwai Ganpati Trust

Dagdusheth Halwai Ganpati Trust

Dagdusheth Halwai Ganpati Trust | पीएम नरेंद्र मोदी ने की पुणे के दगदूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट की तारीफ

पुणे, 16 सितंबर (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे के श्रीमंत दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट को एक पत्र लिखा है और कोविड-19 महामारी के मद्देनजर गणेश उत्सव के दौरान भक्तों के लिए ऑनलाइन दर्शन और आरती की व्यवस्था करने के प्रयासों की सराहना की है। है। ट्रस्ट के एक अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

मोदी ने बुधवार को लिखे अपने पत्र में कहा कि बाल गंगाधर तिलक ने धर्म को समाज और संस्कृति से जोड़कर स्वतंत्रता संग्राम के प्रति लोगों में एकजुटता की भावना को मजबूत किया था.

पत्र में कहा गया है, “ट्रस्ट द्वारा गणेशोत्सव का उत्सव इस गौरवपूर्ण परंपरा को मजबूत करता है और गणेशोत्सव समारोह को और भी खास बनाता है क्योंकि यह देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के साथ मेल खाता है।” “

मोदी ने अपने संदेश में कहा कि उन्हें यह जानकर बहुत खुशी हुई कि श्रीमंत दगदूशेठ हलवाई गणपति इस वर्ष 129वां गणेशोत्सव मना रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने COVID-19 महामारी और गणेश उत्सव के बीच COVID-19 महामारी के मद्देनजर उत्सव के दौरान भक्तों के लिए श्रीमंत दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट, पुणे को एक पत्र लिखा है। उन्होंने भक्तों के लिए ऑनलाइन दर्शन और आरती की व्यवस्था करने में उनके प्रयासों की सराहना की है। ट्रस्ट के एक अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

मोदी ने बुधवार को लिखे अपने पत्र में कहा कि बाल गंगाधर तिलक ने धर्म को समाज और संस्कृति से जोड़कर स्वतंत्रता संग्राम के प्रति लोगों में एकजुटता की भावना को मजबूत किया था.

पत्र में कहा गया है, “ट्रस्ट द्वारा गणेशोत्सव का उत्सव इस गौरवपूर्ण परंपरा को मजबूत करता है और गणेशोत्सव समारोह को और भी खास बनाता है क्योंकि यह देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के साथ मेल खाता है।” “

मोदी ने अपने संदेश में कहा कि उन्हें यह जानकर बहुत खुशी हुई कि श्रीमंत दगदूशेठ हलवाई गणपति इस वर्ष 129वां गणेशोत्सव मना रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, “कोविड-19 महामारी के बीच त्योहार के दौरान भक्तों के लिए ऑनलाइन माध्यम से दर्शन और आरती (भगवान गणेश के) की व्यवस्था करने के लिए ट्रस्ट का प्रयास सराहनीय है। दर्शन और आरती की व्यवस्था करने के लिए ट्रस्ट का प्रयास ( भगवान गणेश के) ऑनलाइन माध्यम से सराहनीय हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat