programming languages play a big role to improove your mental skills so java programming is also a programming language to improove your skills

Multithreading

Multithreading in Java in hindi : जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में मल्टीथ्रेडिंग का कॉन्सेप्ट क्या होता है

आज हम जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में Multithreading का कांसेप्ट जानेंगे मैंने यह बहुत ही सिंपल और आसान भाषा में लिखा है ,जो आपको बहुत ही आसानी से समझ में आ जाएगा ,मैं यह आशा करूंगा कि आप को भी आसानी से समझ में आ जाए और आपके लिए हेल्पफुल रहे तो आप इसे पूरा पढ़िएगा तब आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं कि मेरी यह जानकारी आपके लिए कितनी हेल्पफुल रही

 तो चलिए जानते हैं क्या होता है जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में मल्टीथ्रेडिंग का कांसेप्ट –

Concept of Multithreading in Java in hindi

Multithreading से ही पता चलता है मल्टीथ्रेडिंग का मतलब होता है एक से अधिक प्रकार के थ्रेड का कलेक्शन अर्थात एक से अधिक प्रोग्राम्स का ग्रुप, कुछ ऑपरेटिंग सिस्टम में हम एक साथ अनेक प्रोग्राम चला सकते हैं और उन पर एक साथ कार्य भी कर सकते हैं यदि एक प्रोग्राम किसी कार्य को करने में व्यस्त है ,उस समय में किसी अन्य प्रोग्राम में कोई अन्य कार्य भी किया जा सकता है |ऑपरेटिंग सिस्टम की यह विशेषता मल्टीटास्किंग कहलाती है और सिस्टम तकनीक में इसे मल्टीथ्रेडिंग कहा जाता है |मल्टीथ्रेडिंग में हम एक साथ कई सारे प्रोग्राम को अपने सिस्टम पर एक साथ चला सकते हैं |

Multithreading प्रोग्राम्स

ऐसे प्रोग्राम्स जिनके एक से अधिक कंट्रोल सिस्टम होते हैं ,अर्थात जिन्हें एक से अधिक प्रकार से हैंडल ,अथवा मैनेज किया जा सकता है ,उन्हें मल्टीथ्रेडिंग प्रोग्राम कहते हैं |

Multithreading में थ्रेड क्या होता है  

ऐसे प्रोग्राम जिनमें एक निश्चित क्रम में श्रेणीबद्ध तरीके से एक समय में एक स्टेटमेंट ही एग्जिट होता है उन्हें सिंगल थ्रेडिंग प्रोग्राम कहते हैं प्रत्येकसिंगल थ्रेडिंग प्रोग्राम जिसका एग्जीक्यूशन एक निश्चित क्रम में हो रहा है,का एक प्रारंभ और एक अंत होता है इस प्रकार हम कह सकते हैं कि प्रत्येक प्रोग्राम कम से कम थ्रेड रखता है |

java Concept of Multithreading in Java in hindi
Multithreading

मल्टीथ्रेडिंग का कांसेप्ट जावा लैंग्वेज को छोड़कर अन्य बहुत सारी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज इसमें भी होता है जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं –]

  1. Multithreading in C
  2. Concept of Multithreading in Python
  3. Operating system Multithreading
  4. Multithreading in c#
  5. मल्टीथ्रेडिंग in Rubey
  6. Multithreading in Dot Net
  7. Concept of PHP Multithreading
  8. Multithreading in Swift 
  9. मल्टीथ्रेडिंग in COBOL 
  10. Multithreading in Pascal etc.

Java programming language में थ्रेड कैसे बनाएं ?

प्रोग्रामिंग भाषा जामा में Threads बनाना अत्यंत सरल होता है | इनको ऑब्जेक्ट के रूप में बनाया जाता है, जिसमें run() मेथड होता है 

run()  किसी भी थ्रेड का हृदय की तरह होता है ,क्योंकि run() मेथड ही पूरे थ्रेड की संरचना को डिजाइन करता है|  यह मेथड थ्रेड के व्यवहार को भी कंट्रोल करता है | 

रन मेथड का स्टैंडर्ड सिंटेक्स नीचे दिया गया

Public void run()

{

  Statement-1;

  Statement-2;

  Statement-3;

  …………….

}

इस मेथड को किसी भी object के माध्यम से बुलाया नहीं जाना चाहिए, तभी यह मेथड एक्जिक्यूट होता है |

ऐसा करने के लिए thread बनाना होता है, तथा इसे इनीशिएट(initiate) करने के लिए एक अन्य thread method start()  को बुलाना होता है

किसी भी नए में thread को बनाने के लिए दो मेथड से होते हैं-

1. Thread क्लास बनाकर

एक क्लास बनाकर उसे थ्रेड class से extends कर लिया जाता है और इसके run() मेथड को थ्रेड के आवश्यक coding से ओवरराइड(override) कर लिया जाता है |

2. Thread के लिए क्लास बनाकर

एक क्लास जिसमें runnable interface को इंप्लीमेंट क्या जाना होता है को पहले परिभाषित कर लेते हैं और runnable interface के अंदर केवल एक मेथड रखते हैं, इस मेथड में थ्रेड के द्वारा execute होने वाले code से डिजाइन कर लेते हैं |

Java में Thread की life cycle

थ्रेड को बनाने से लेकर इसके execution के समाप्त होने तक अर्थात पूरे लाइफ साइकिल में पांच अवस्थाएं उत्पन्न होती हैं |

flow12 Concept of Multithreading in Java in hindi
Java Thread life cycle
  1. New born state 
  2. Runnable state
  3. Running State
  4. Blocked state
  5. Dead state

थ्रेड के Execution में बैरियर उत्पन्न करने वाले मेथड

थ्रेड के Execution को परमानेंटली रूप से रोकने के लिए थ्रेडट पैकेज के निम्नांकित तीन मेथड में से आवश्यकता अनुसार किसी भी एक का प्रयोग किया जा सकता है |

1. Sleep() :

इस मेथड के द्वारा थ्रेड के execution में एक निश्चित समय के लिए अवरोध उत्पन्न किया जा सकता है |

2. Suspend() :

इस मेथड के प्रयोग द्वारा थ्रेड के execution में अगले निर्देश दिए जाने तक अवरोध उत्पन्न किया जाता है |

3. Waite() :

इस मेथड के द्वारा प्रयोग thread के execution में दी गई निश्चित condition के सत्य होने तक अवरोध उत्पन्न किया जा सकता है |

यह सभी मेथड थ्रेड को ब्लॉक अवस्था में ले जाते हैं इसे पुनः रिलेबल अवस्था में लाने के लिए निम्न मेथड का यूज किया जाता है |

1. sleep():

इस मेथड के प्रयोग द्वारा थ्रेड के execution में अवरोध उत्पन्न करने के लिए एक निश्चित समय को इंप्लीमेंट किया जाता है | जब यह समय समाप्त हो जाता है थ्रेड का एजुकेशन अगेन स्टार्ट हो जाता है |

2. Resume() :

इस method के प्रयोग से suspend() मेथड द्वारा थ्रेड के execution में उत्पन्न किया गया barrer हट जाता है और थ्रेड का execution again प्रारंभ हो जाता है |

3. Notify() :

मेथड के प्रयोग से wait()  मेथड द्वारा थ्रेड के Execution में क्रिएट किया गया अवरोध हट जाता है |और थ्रेड का execution again प्रारंभ हो जाता है |

जावा में Multithreading के लाभ क्या है (Advantages)

  1. यह यूजर को ब्लॉक नहीं करता है क्योंकि यह थ्रेड  आपस में एक-दूसरे से इंडिपेंडेंट होते हैं जिससे यूजर को कंपलेक्सिटी फेस करनी नहीं पड़ती है |
  2. इसका यूज करके आप एक साथ एक समय में अपने सिस्टम पर कई प्रोग्राम्स को चला सकते हैं जिससे आपके टाइम की बचत होती है |
  3. यह आपके सिस्टम के CPU(Central processing unit) के एजुकेशन टाइम को भी कम करता है जिससे आपका सिस्टम smoothly चलता है |

सेल्फ-डिफेंस कैसे बनाए रखें जानिए

स्ट्रेस क्या होता है,और इसे कैसे कंट्रोल करें

जानिए योगा करके स्वस्थ रहने का राज

2 thoughts on “Multithreading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat